Schooli kitabay aur andha shiksha, Rohit Dhankar

यह वक्तव्य राजस्थान की पाठ्यपुस्तकों पर आयोजित राज्य स्तरीय सम्मेलन में दिया गया है। शिक्षा और लोकतंत्रा का क्या संबंध है ? इस संदर्भ में इस वक्तव्य में कहा गया है कि हमारे पुराने शिक्षा नीति सम्बन्धी दस्तावेज शिक्षा के माध्यम से विवेकशील इंसान की संकल्पना प्रस्तुत करते हैं और इसे लोकतंत्रा के लिए आवश्यक मानते हैं। लेकिन ये किताबें विवेकशीलता के स्थान पर मतारोपण को बढ़ावा देती हैं और बच्चों को अंधश्रद्धा की ओर ले जाती हैं।
Schooli-kitabay-aur-andha-Shiksha

Download

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *